Breaking News
Home / राजनीति / उमेश पटेल के सुझाव और सहमति से हुई है दो कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति, कांग्रेस ने किया ‘नाराजगी’ की खबर का खंडन…

उमेश पटेल के सुझाव और सहमति से हुई है दो कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति, कांग्रेस ने किया ‘नाराजगी’ की खबर का खंडन…

रायपुर| प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष उमेश पटेल के कार्यों से प्रदेश कांग्रेस की किसी प्रकार की नाराजगी की खबर का खंडन करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि खरसिया विधायक एवं युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष उमेश पटेल के कार्यों से युवक कांग्रेस मजबूत हुयी है। भाजपा सरकार के युवा विरोधी चेहरे को बेनकाब करने में लगे उमेश पटेल से भयभीत सत्ताधीशों दबाव डालकर अफवाह फैला कर उमेश पटेल के कार्यों से संगठन की नाराजगी की झूठी खबर फैला रहे हैं। जबकि हकीकत यह है कि उमेश पटेल के युवक कांग्रेस अध्यक्ष बनने से युवाओं में उत्साह का संचार हुआ है।
युवा कांग्रेस मजबूती से भाजपा सरकार के खिलाफ युवाओं के रोजगार, युवाओं की सुरक्षा, युवाओं के भविष्य की लड़ाई लड़ रही हैं। उमेश पटेल के कार्यों से प्रेरित होकर छत्तीसगढ़ का युवा कांग्रेस के विचारधारा से जुड़ रहे है। उमेश पटेल की अगुवाई में पूरे प्रदेश में मैं हूं बेरोजगार का बड़ा अभियान चालू किया है। भारतीय जनता पार्टी की केन्द्र और राज्य दोनों सरकार युवाओं को रोजगार देने में विफल रही है, इससे बौखलाकर भाजपा की अफवाह फैलाओं मशीनरी ओव्हर टाईम काम कर रही है। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में खरसिया विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के कारण उमेश पटेल के इच्छानुसार युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन ने प्रदेश में दो कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति की है। दोनों कार्यकारी अध्यक्ष, प्रदेश युवक कांग्रेस अध्यक्ष उमेश पटेल के दायें और बायें हाथ की तरह काम करेंगे। उमेश पटेल के कार्य से प्रदेश कांग्रेस संगठन की कोई नाराजगी नहीं है। आने वाले दिनों में उमेश पटेल की अगुवाई में युवाओं के हक अधिकार और रोजगार की जो लड़ाई युवा कांग्रेस द्वारा मैं हूं बेरोजगार अभियान के द्वारा लड़ी जा रही है उससे भाजपा से विमुख होकर युवा बड़े पैमाने पर कांग्रेस की ओर आ रहे है, जिससे परेशान, हताश होकर भाजपा ने बौखलाहट में उमेश पटेल की नाराजगी की खबर फैलाकर युवाओं को हतोत्साहित करने में लगे है। उमेश पटेल के युवाओं के लिये किये गये कार्यो का मूल्यांकन कांग्रेस और जनता के सामने होगा। भाजपा को मुंह की खानी पड़ेगी। युवा कांग्रेस उमेश पटेल के नेतृत्व में विधानसभा चुनाव में इस बार भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगे। 2013 में परिवर्तन यात्रा की सुरक्षा व्यवस्था में खामियां उत्पन्न की गयी जिसके कारण झीरम घाटी कांड हुआ, जिसमें नंदकुमार पटेल और उमेश पटेल के भाई दिनेश पटेल की हत्या हुई। अब भाजपा उनके पुत्र उमेश पटेल की छवि खराब कर राजनीतिक साजिश रचने में लगी है। भाजपा पटेल परिवार से राजनैतिक बदला भंजा रही है जो भाजपा की विकृत और निम्न स्तरीय राजनीति को उजागर करती है।

About Editor

Check Also

लोकसभा से संन्‍यास ले चुके शरद पवार फिर लड़ सकते हैं चुनाव, PM पद पर न‍िगाहें

नई दिल्ली | एनसीपी अध्‍यक्ष शरद पवार अब लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं. सूत्रों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *