Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / जिस फैमिली इमिग्रेशन का विरोध करते रहे हैं ट्रंप, उसी के सहारे नागरिक बने उनके सास-ससुर

जिस फैमिली इमिग्रेशन का विरोध करते रहे हैं ट्रंप, उसी के सहारे नागरिक बने उनके सास-ससुर

न्यूयॉर्क| अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जिस चेन इमिग्रेशन या फैमिली इमिग्रेशन का पुरजोर विरोध करते हैं, अमेरिका की उसी नीति का लाभ लेकर उनके स्लोवेनियाई सास-ससुर ने देश की नागरिकता पायी है. अमेरिका की चेन इमिग्रेशन या फैमिली इमिग्रेशन नीति के तहत कोई भी व्यस्क अमेरिकी नागरिक अपने रिश्तेदारों के लिए अमेरिकी नागरिकता प्राप्त कर सकता है.

न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी खबर के अनुसार, अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप के माता-पिता एमालिजा और विक्टर कनाव्स को कल न्यूयॉर्क के फेडरल इमिग्रेशन कोर्ट में एक निजी समारोह के दौरान अमेरिका की नागरिकता दी गयी.

इससे पहले मेलानिया के माता-पिता उनके द्वारा स्पांसर किये गये ग्रीन कार्ड के सहारे अमेरिका में रह रहे थे. उनके वकील माइकल वाइल्डस ने अखबार को यह जानकारी दी है. वाइल्डस के अनुसार, एक बार ग्रीन कार्ड मिलने के बाद वो योग्यता के आधार पर नागरिकता के लिए आवेदन कर सकते हैं.

यह पूछने पर कि क्या कनाव्स ने चेन इमिग्रेशन के माध्यम से नागरिकता प्राप्त की, वाइल्डस ने कहा, ‘‘मुझे लगता है. यह बेहद गंदी…बहुत गंदी दुनिया है.’’ बताते चलें कि ट्रंप लगातार चेन इमिग्रेशन या फैमिली इमिग्रेशन प्रणाली का विरोध करते रहे हैं.

यहां तक कि नवंबर में उन्होंने ट्वीट किया था कि ‘चेन इमिग्रेशन अब बंद होना चाहिए. कुछलोग आते हैं, फिर वह अपने साथ पूरे परिवार को ले आते हैं, जो बहुत खराब है. यह स्वीकार्य नहीं है.’

About Editor

Check Also

पाकिस्तान पर भड़का ईरान, कहा- खून की हर बूंद की कीमत चुकाना होगी

तेहरान। पाकिस्तान में पनपता आतंकवाद भारत ही नहीं उसके अन्य पड़ोसी देशों के लिए भी परेशानी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *