Breaking News
Home / छत्तीसगढ़ / प्रदेश के पूर्व वन राज्यमंत्री विक्रम भगत का निधन, गृहग्राम में होगा अंतिम संस्कार

प्रदेश के पूर्व वन राज्यमंत्री विक्रम भगत का निधन, गृहग्राम में होगा अंतिम संस्कार

जशपुरनगर| छत्तीसगढ़ के पूर्व वन राज्यमंत्री विक्रम भगत का बीती रात करीब 1 बजे निधन हो गया, वे 89 वर्ष के थे। उनका राजनैतिक सक्रिय जीवन 45 साल से अधिक का रहा। उनके निधन की खबर सुनकर क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। उनके अंतिम दर्शन के लिए लोगों का तांता लगा हुआ है।
विक्रम भगत के निधन की सूचना मिलने के बाद बुधवार को सुबह खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष कृष्णकुमार राय, जशपुर नगरपालिका अध्यक्ष हीरू राम निकुंज ने भी सुबह जुरगुम रोड स्थित उनके निवास में आकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर अपने शोक संवेदना प्रकट करते हुए कृष्ण कुमार राय ने कहा कि विक्रम भगत शुरू से ही वनवासी कल्याण आश्रम से जुड़े रहे और आश्रम के संस्थापक स्व. बाला साहब देशपांडे के साथ काम करने वालों में वे शामिल थे। विक्रम भगत जमीन से जुड़े हुए और सादगी पसंद इंसान थे, उनका निधन एक बड़ी क्षति है। निकुंज ने कहा विक्रम भगत हम सबके मार्गदर्शक थे। उनके अनुभव का लाभ सभी को लगातार मिलता था। यह केवल पार्टी ही नहीं मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति भी है। भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश सिन्हा ने भी विक्रम भगत को श्रद्धांजलि दी है।
उल्लेखनीय है कि स्व. विक्रम भगत का गृह ग्राम अलोरी खरवाटोली है। दोपहर करीब 12 बजे उनके पार्थिव शरीर को उनके गृह ग्राम ले जाया जाएगा। जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। विक्रम भगत पहले अलोरी के सरपंच बाद में मनोरा जनपद अध्यक्ष भी रहे। 1984 में वे पहली बार भाजपा की टिकट पर चुनाव जीतकर विधायक बने थे, विक्रम भगत लगातार 4 बार विधायक रहे। जब अजीत जोगी प्रदेश के मुख्यमंत्री थे तो विक्रम भगत ने भाजपा छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया था और प्रदेश के वन राज्यमंत्री बने थे।

About Editor

Check Also

कमल फूल की खेती : इन किसानों को दिवाली का बेसब्री से इंतजार

रायपुर. दिवाली आते ही बाजार गुलजार होने लगता है। दिवाली को लेकर लोगों में एक अलग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *