Breaking News
Home / छत्तीसगढ़ / नक्सलियों की धमकी से रुका दर्जन भर गांवों में पंच-सरपंचों का शपथ ग्रहण

नक्सलियों की धमकी से रुका दर्जन भर गांवों में पंच-सरपंचों का शपथ ग्रहण


जगदलपुर. छत्तीसगढ़ के धुर नक्सल प्रभावित नारायणपुर में पंचायत चुनाव के दौरान मुंह की खाने वाले नक्सलियों ने अब नवनिर्वाचित पंच-सरपंचों को धमकाना शुरू किया है। नक्सलियों की धमकी के कारण मंगलवार को ओरछा ब्लॉक के एक दर्जन गांवों में पंच-सरपंच का शपथ ग्रहण समारोह नहीं हो पाया। मामूली सुरक्षा के साथ शपथ ग्रहण कराने गए पर्यवेक्षक वापस लौट आए।

इसके बाद प्रशासन ने सख्त रुख अपनाया है। आईजी बस्तर सुंदरराज पी ने कहा कि नक्सलियों के खिलाफ अभियान और तेज किया जाएगा। पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराकर शपथ ग्रहण समारोह कराया जाएगा।

बता दें कि ओरछा ब्लॉक के कच्चापाल गांव में मंगलवार को शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया था। वहां पर्यवेक्षक के तौर पर मिथिलेश पोटाई मौजूद थे। समारोह में सरपंच और कुछ पंचों के नहीं पहुंचने की वजह से ग्रामीणों ने विरोध किया, जिससे शपथ ग्रहण नहीं कराया जा सका।

बताया गया कि नक्सल फरमान की वजह से पंच और सरपंच डरे हुए हैं। सूचना है कि ओरछा ब्लॉक के पीडियाकोट, हिकुल, मुरूमवाड़ा, ढोंडरापाल , धुरबेड़ा, कुतुल, पदमकोट, घमंडी, लंका, थुलथुली, पोचावाड़ा, रेकावाया, कोंगे, गोमे, पांगुड़ समेत दूरस्थ नक्सलगढ़ के गांवों में नक्सलियों ने चुनाव बाद शपथ ग्रहण से दूर रहने का फरमान जारी कर रखा है।

कुछ गांवों में किसी तरह शपथ ग्रहण की औपचारिकता पूरी की गई। इसे आईजी बस्तर सुंदरराज पी ने गंभीरता से लिया है। सुंदरराज ने कहा कि संवेदनशील इलाकों में फोर्स की सुरक्षा में निर्विघ्न चुनाव कराया गया। इससे नक्सली हताश हैं। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में पंचायत प्रतिनियिों को डरने की जरूरत नहीं है।

About Editor

Check Also

पहली बार पानी के बीच होगी भूपेश कैबिनेट की बैठक, ये है मकसद

कोरबा. पहली बार ऐसा हो रहा है जब पानी के बीच कू्रज में भूपेश कैबिनेट की …