Breaking News
Home / राष्ट्रीय / 10.30 बजे आएगा फैसला, 1 बजे मीडिया से बात करेंगे संघ प्रमुख मोहन भागवत

10.30 बजे आएगा फैसला, 1 बजे मीडिया से बात करेंगे संघ प्रमुख मोहन भागवत


देश के सबसे पुराने और बहुप्रतिक्षित कोर्ट केस अयोध्या राम जन्मभूमि – बाबरी मस्जिद विवाद केस में चंद घंटों बाद फैसला सुना दिया जाएगा। पांच जजों की संवैधानिक पीठ आज सुबह 10.30 बजे अपना फैसला देश के सामने सुनाएगी। इस बेंच ने लगातार 40 दिन की मैराथन सुनवाई के बाद बीती 16 अक्टूबर को फैसला सुरक्षित रख लिया गया था। शुक्रवार को चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) की और से इस बारे में जानकारी दी गई थी। उसके बाद से देश में हलचल बढ़ गई। सभी राज्यों में पुलिस अलर्ट पर है और सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त कर लिए गए हैं। खासतौर पर उत्तर प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था सख्त कर दी गई है। अयोध्या में धारा 144 लागू कर दी गई है। उप्र में स्कूल-कॉलेज सोमवार तक के लिए बंद किए गए हैं, वहीं मध्यप्रदेश व दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में शनिवार को स्कूलों में अवकाश घोषित किया गया है।

पढ़िए लाइव अपडेट्स –

8.45 am: अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद संघ प्रमुख मोहन भागवत दोपहर 1 बजे मीडिया को संबोधित करेंगे। संघ शुरू से राम मंदिर मुद्दे पर सक्रिय रहा है। संघ नेताओं ने शांति और अमन चैन की अपील की है। संघ प्रमुख भी कह चुके हैं कि जो भी फैसला आएगा, वो सभी को मंजूर होगा।

7.57 am: फैसले को लेकर केंद्रीय मंत्री नीतीन गडकरी का बयान आया है। केंद्रीय मंत्री ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमें अपनी न्यायपालिका में विश्वास है और मैं सभी से अपील करता हूं कि वो इस फैसले का पूरा सम्मान कर शांति बनाए रखें।

7.48 am: अयोध्या में महंत सत्येंद्र दास ने अपील की है कि लोग फैसले का सम्मान करते हुए शांति बनाए रखें। प्रधानमंत्री ने सही कहा है कि यह फैसला ना किसी की जीत है और ना किसी की हार है।

7.48 am – संघ प्रमुख मोहन भागवत ने एक बार फिर शांति की अपील की है। संघ पहले ही कह चुका है कि जो भी फैसला आएगा वह सभी को मान्य होगा। फैसला आने के बाद मोहन भागवत या भय्या जी जोशी मीडियो को संबोधित कर सकते हैं।

7.29 am- फैसले के मद्देनजर एहतियातन राजस्थान सरकार ने भरतपुर में कल सुबह 6 बजे तक के लिए इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी है। साथ ही सुरक्षा के भी चाक चौबंद इंतजाम किए गए हैं।

7.27 am – आज आने वाले फैसले के पहले देश की सर्वोच्च अदालत के दरवाजे खुल चुके हैं और आज यहां से दशकों पुराने विवाद का निपटारा होने की उम्मीद लगाई जा रही। सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का सभी को इंतजार है और अब से ठीक तीन घंटे बाद पांच जजों की बेंच बैठेगी।

अयोध्या में हालात पूरी तरह सामान्य हैं। यहां सुबह से लोग अपने रोजमर्रा के कामों में लगे हैं। बाहर से आए लोग नदी में स्नान करने जा रहे हैं, मंदिरों में दर्शन कर रहे हैं।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, एसए बोबडे, डीवाई चंद्रचूड़, अशोक भूषण और एस. अब्दुल नजीर की संविधान पीठ अपना फैसला सुनाएगी। सभी जजों की सुरक्षा बढ़ाई गई अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को देखते हुए देश भर में सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था की गई है। प्रधान न्यायाधीश समेत संविधान पीठ में शामिल सभी जजों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। राजधानी दिल्ली और मुंबई में भी सुरक्षा बलों को अत्यधिक सतर्क रहने को कहा गया है। दोनों ही जगहों पर धारा 144 लगा दी गई है। चीफ जस्टिस को जेड प्लस सुरक्षा प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई को जेड प्लस सुरक्षा दी गई है।

फैसला सुनाने वाली संविधान पीठ में शामिल अन्य चारों जजों की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है। सुप्रीम कोर्ट की सुरक्षा भी सख्त कर दी गई है। दिल्ली पुलिस ने राजधानी के संवेदनशील इलाकों में गश्त बढ़ा दी है। किले में बदली अयोध्या अयोध्या को किले में बदल दिया गया है। बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था बनाई गई है। पीएसी और अर्धसैनिक बलों की 60 कंपनियां तैनात की गई है। प्रत्येक कंपनी में 90-125 जवान हैं। रामजन्मभूमि, राम जन्मभूमि न्यास व अन्य इलाकों में आनेजाने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

About Editor

Check Also

आज जारी हो सकता है Scrappage Policy का ड्राफ्ट, पुरानी गाड़ियां चलाना हो जाएगा महंगा

नई दिल्ली. देश में जल्द ही पुरानी गाड़ियां (Old Vehicle) चलाना महंगा होने वाला है. 15 साल पुरानी …