Breaking News
Home / राष्ट्रीय / चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग 11-12 अक्टूबर को पीएम मोदी से मिलेंगे, कश्मीर मुद्दे पर नहीं होगी चर्चा

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग 11-12 अक्टूबर को पीएम मोदी से मिलेंगे, कश्मीर मुद्दे पर नहीं होगी चर्चा


नई दिल्ली. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दूसरी अनौपचारिक मुलाकात 11 अक्टूबर को होगी। जिनपिंग दो दिवसीय दौरे के लिए शुक्रवार को चेन्नई पहुंच रहे हैं। यह जानकारी भारतीय विदेश मंत्रालय ने बुधवार को दी है। इस दौरान वह भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चार अलग-अलग बैठक करेंगे और करीब 5 घंटों से अधिक समय साथ बिताएंगे। बताया जा रहा है कि इस दौरान वे द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक महत्व के विषयों पर चर्चा करेंगे। डोकलाम मामले के बाद भारत और चीन के संबंधों में भी कुछ तनाव पैदा हो गया था। माना जा रहा है कि इस मुलाकात में दोनों नेता तनाव को कम करने पर भी चर्चा करेंगे। दोनों नेताओं की यह मुलाकात ऐसे समय में हो रही है, जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान मंगलवार को चीन पहुंचे हैं।

वह पाकिस्तान की खराब आर्थिक हालात के लिए निवेश जुटाने के साथ ही FATF की ब्लैकलिस्ट में पाकिस्तान को डाले जाने से बचाने के लिए उसका समर्थन भी हासिल करना चाहते हैं। इस बारे में चीन ने स्पष्ट कर दिया है कि राष्ट्रपति जिनपिंग और भारतीय प्रधानमंत्री मोदी के बीच होने वाली दूसरी अनौपचारिक शिखर वार्ता में कश्मीर का मुद्दा चर्चा का प्रमुख विषय नहीं हो सकता है। चीन की तरफ से यह बयान ऐसे समय में आया है, जब उसका सदाबहार दोस्त पाकिस्तान लगातार कश्मीर मुद्दे को लेकर हाई-वोल्टेज ड्रामा कर रहा है।

बताते चलें कि पहली अनौपचारिक मुलाकात चीन के वुहान में पिछले साल हुई थी। तब चीनी राष्ट्रपति शी को पीएम मोदी ने साल 2019 में अगले अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए भारत आने का न्योता दिया था, जिसे जिनपिंग ने स्वीकार कर लिया था। इस यात्रा के दौरान जिनपिंग चेन्नई में करीब 24 घंटे बिताने के बाद अगले दिन शनिवार को करीब 1.30 बजे चीन के लिए रवाना हो जाएंगे। इस दौरान चीनी राष्ट्रपति मामल्लापुरम के तीन प्रसिद्ध धरोहरों का दौरा करने के साथ ही एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में भी हिस्सा लेंगे। दोनों नेताओं के बीच अनौपचारिक समिट की शुरुआत शुक्रवार शाम पांच बजे से होगी।

इस दौरान तीन धरोहरों को देखने में वे करीब एक घंटे से ज्यादा का समय बिताएंगे। इसके बाद शोर टैंपल पर होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम में दोनों नेता शिरकत करेंगे। इसके बाद शी जिनपिंग और मोदी शोर टैंपल पर प्राइवेट डिनर करेंगे।

About Editor

Check Also

दो से ज्यादा बच्चे वाले माता-पिता को 2021 से असम में नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी

गुवाहटी. असम में सरकारी नौकरी की चाह वाले लोगों को अब सिर्फ अपने बारे में ही …