Breaking News
Home / टेक्नोलॉजी / सैलरी बढ़ाने में ये टिप्स करेंगे आपकी मदद…

सैलरी बढ़ाने में ये टिप्स करेंगे आपकी मदद…

मुंबई. अगर आप दिन रात पूरी ईमानदारी से अपने ऑफिस का काम कर रहे हों, आपका बॉस हर दिन आपकी तारीफ करता हो. लेकिन अप्रेजल के वक्त आपको उम्मीद से काफी कम हाइक मिला हो तो कैसा लगेगा. ऐसे में समय में निराश होना या ये सोचना कि आपको इतना काम ही नहीं करना चाहिए था गलत है. इससे बेहतर कि आप खुल कर अपने बॉस से बात करें और काम के बारे में उन्हें बताए. हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी ही टिप्स जो आपको एक अच्छी सैलरी पाने में मदद कर सकती हैं.

पूरी तरह से तैयार रहें

आपने पिछले पूरे साल जितना भी काम किया है उसकी पूरी लिस्ट बनाकर तैयार कीजिए. आपने जब-जब उम्मीद से अच्छा काम किया जिससे आपको अपने बॉस या क्लाइंट से तारीफ मिली हो उसे स्पेशल मेंशन कीजिए. ये भी बताएं कि आपने अगले साल के लिए प्लान क्या किया है. परफॉर्मेंस मीटिंग में पूरी तरह से तैयार होकर जाएं. अपने नोट्स और प्रिंटआउट ले जाना ना भूलें.

 अप्रेजल की कैलकुलेशन करें

आपका अपने ऑफिस में क्या योगदान रहा है इसे पूरी सच्चाई से एनालाइज करें. चेक करें कि आपने पिछले साल कितना काम किया है और अगर आप कंपनी को छोड़ कर जाते हैं तो कंपनी का कितना खर्चा हो सकता है. अगर आपकी वजह से कंपनी को कोई फायदा या बचत हुई है तो उसकी वैल्यू जरूर काउंट करें. अपने काम को अप्रेजल करने वालों की नजरों से देखें

अपनी बात रखें

हर कंपनी एक रकम तय करती है जिसके अंदर उसे सभी इंप्लोइज का अप्रेजल करना होता है. आप पूरी कोशिश कीजिए कि आपको उस रकम का एक अच्छा हिस्सा अप्रेजल के तौर पर मिले.

ऑर्गनाइजेशन के बारे में सोचें

अपने ऑफिस की फाइनेंशियल स्थिति को भी ध्यान में रखें. ऐसा नहीं लगना चाहिए कि आपको बस खुद से मतलब है, कंपनी की ग्रोथ और प्रॉफिट से नहीं.

भावुक ना हो

अपने बॉस से अपने काम की बात करें, अपनी कामयाबी के बारे में बात करे. भावुक होकर बात करने से बचें. पूरी बातचीत के दौरान आप पॉजिटिव और उत्साहित नजर आने चाहिए.

फैक्ट्स रखें

अपनी बातों में फैक्ट्स और डाटा लेकर आएं, फिर चाहे आपकी खुद की परफॉर्मेंस से जुड़ी बात हो या फिर कंपनी की. अपनी बात को रखते हुए डाटा और फैक्ट्स की मदद लें.

प्रैक्टिकल रहें

किसी भी तरह की डिमांड करते वक्त अपनी कंपनी की लिमिट्स के बार में अच्छे से जान लें. प्रैक्टिकल होकर सोचें कि आपकी कंपनी आपको कितना इंक्रिमेंट ऑफर कर सकती है. परफॉर्मेंस रिव्यू के दौरान किसी भी तरह की धमकी देने से बचें.

खुलकर बात करें

अगर आपको लग रहा है कि आपके काम को कम आंका जा रहा है तो खुल कर इस बारे में अप्रेजर से बात करें. अपनी बात को समझाने में और गुस्से से बात करने में अंतर होता है.

About Editor

Check Also

आज लॉन्च होगा MOTOROLA का नया फोन ‘वन एक्शन’

नई दिल्ली. अग्रणी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी मोटोरोला अपने नए स्मार्टफोन ‘वन एक्शन’ (One Action) को इंडियन मार्केट में …