Breaking News
Home / राष्ट्रीय / महाराष्‍ट्र में युवक की दोनों किडनियां ठीक होने के बावजूद डॉक्‍टरों ने कर दिया डायलिसिस

महाराष्‍ट्र में युवक की दोनों किडनियां ठीक होने के बावजूद डॉक्‍टरों ने कर दिया डायलिसिस


पिंपरी-चिंचवड (कैलास पुरी). महाराष्ट्र के पिंपरी में अस्पताल की लापरवाही का अजीब मामला सामने आया है. यहां एक युवक की दोनों किडनियां ठीक होने के बावजूद उसे डॉक्‍टरों ने डायलिसिस पर रखा गया. पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका द्वारा चलाए जाने वाले यशवंतराव चव्हाण स्मृति अस्पताल में यह वाकया हुआ है. मरीज के रिश्तेदार अब अस्पताल के खिलाफ मामला दर्ज करने के बारे में सोच रहे हैं.

पिंपरी के वेतालनगर में रहने वाले युवक आनंद अनिवाल को कई दिनों से बुखार था. पूरा बदन भी टूट रहा था. उसे इलाज के लिए यशवंतराव चव्हाण स्मृति अस्पताल में भर्ती कराया गया. आनंद की खून की जांच की गई. जांच रिपोर्ट से पता चला कि आनंद के खून में क्रिटेनिन की मात्रा अधिक है.

आमतौर पर यह 0.66 से 1.25 तक होती है. लेकिन रिपोर्ट के अनुसार आनंद के शरीर में वह 24 थी. रिपोर्ट देखकर डॉक्टर ने कहा कि आनंद की दोनों किडनियां फेल हो चुकी हैं और उसे डायलिसिस की जरूरत है. इसके अनुसार उसे डायलिसिस पर रखा गया. आनंद के परिवारवालों ने निजी अस्पताल में आनंद की जांच करवाई. रिपोर्ट नॉर्मल आई. आनंद की दोनों ही किडनियां बिलकुल सही थीं.

आनंद ने कहा कि जब यशवंतराव चव्हाण स्मृति अस्पताल के डॉक्टरों ने दोनों किडनियां खराब होने की बात कही तो पूरा परिवार सदमे में आ गया था. घरवालों ने निजी अस्पताल में टेस्ट की. तो रिपोर्ट नॉर्मल आई. आनंद की मां सुनीता अनिवाल ने भी बताया कि इतनी छोटी सी उम्र में दोनों किडनियां फेल होने की खबर से पूरा परिवार डर गया था. अस्पताल ने डायलिसिस तो शुरू कर दिया. लेकिन अंदर से लग रहा था कि शायद ऐसे कुछ नहीं हो सकता तो हमने प्राइवेट अस्पताल में उसकी जांच करवाई तो पता चला सबकुछ नॉर्मल है.

अस्पताल ने भी अपनी गलती मानी है. डीन डॉ. राजेंद्र वाबले ने बताया इस पूरे मामले की जांच की जाएगी.  डॉक्टरों की गलती की वजह से आनंद की जान को खतरा भी हो सकता था. अब आनंद का परिवार अस्पताल के खिलाफ मामला दर्ज करने के बारे में सोच रहा है. फिलहाल आनंद को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसका इलाज चल रहा है.

About Editor

Check Also

उत्तर भारतीयों पर बयान देकर केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार विपक्ष के निशाने पर आए, यह कहा था

बरेली. उत्तर भारतीय युवाओं में कौशल की कमी की बात कहकर केंद्रीय श्रम एवं रोजगार राज्य …