Breaking News
Home / छत्तीसगढ़ / जाति प्रमाण पत्र बनाने का कार्य गंभीरता से करें : कलेक्टर

जाति प्रमाण पत्र बनाने का कार्य गंभीरता से करें : कलेक्टर

बिलासपुर. विद्यार्थियों को जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिये तहसीलों का चक्कर न काटना पड़े और स्कूलों में ही उन्हें सरलता से उपलब्ध हो जाये। इस कार्य मंे लापरवाही बरतने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर डाॅ.संजय अलंग ने आज टीएल की बैठक में उक्ताशय का निर्देश दिया।  मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर ने जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिये  गत वर्ष के लंबित आवेदनों की समीक्षा की। कलेक्टर ने जाति प्रमाण पत्र बनाने के काम में  रूचि नहीं लेने पर जिला शिक्षा अधिकारी पर गहरी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि वे तहसीलदारों व खण्ड शिक्षा अधिकारियों की बैठक लेकर जाति प्रमाण पत्र बनाने के कार्य में गति लायें। इसके लिये स्कूलों में शिविर भी लगाया जाये। कलेक्टर ने सिम्स में आक्सीजन रूम की शिफ्टिंग और इलेक्ट्रीकल कार्य तत्काल शुरू करने के निर्देश दिये साथ ही सिम्स में क्षमता के अनुरूप ब्लड यूनिट बढ़ाने के निर्देश दिये। नगर निगम क्षेत्र में गौठान निर्माण की प्रगति की जानकारी ली। कलेक्टर ने जिले के सभी विकासखण्डों में फूड पार्क बनाने के लिये इसी हफ्ते जगह चिन्हांकित कर प्रस्ताव देने कहा। लक्ष्य के अनुरूप वृक्षारोपण का कार्य 30 जुलाई तक किया जाना है। इस संबंध में सभी शासकीय संस्थाओं में वृक्षारोपण हेतु आवश्यक पौधों की मांग प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। राशनकार्ड के नवीनीकरण के लिये सत्यापन दलों की 15 जुलाई तक प्रशिक्षण देने का निर्देश दिया गया। पंचायतों मंे लंबित वसूली हेतु निर्देश दिये गये। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री रितेश कुमार अग्रवाल, अतिरिक्त कलेक्टर श्री बी.एस.उईके, श्री बी.सी.साहू, डीएफओ बिलासपुर सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

About Editor

Check Also

भूपेश सरकार की 6 माह की उपलब्धियों पर कांग्रेस ने जारी की पुस्तक

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की नेतृत्व वाली सरकार की छह माह की उपलब्धियों पर प्रदेश कांग्रेस …