Breaking News
Home / राष्ट्रीय / भारत 8 साल बाद चीन को पछाड़कर सबसे ज्यादा आबादी वाला बन जाएगा देश, ये होंगी चुनौतियां

भारत 8 साल बाद चीन को पछाड़कर सबसे ज्यादा आबादी वाला बन जाएगा देश, ये होंगी चुनौतियां


नई दिल्ली. दुनिया की आबादी लगातार तेजी से बढ़ती जा रही है. सबसे चिंताजनक बात यह है कि भारत की जनसंख्या भी बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है. ऐसे ही आबादी बढ़ती रही, तो भारत 2027 तक यानी 8 साल बाद चीन को पीछे छोड़ते हुए दुनिया में सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश बन सकता है. ऐसा होगा तो देश में गरीबी, भुखमरी, कुपोषण, असमानता, शिक्षा और स्वास्थ्य तक पहुंच न होना जैसी चुनौतियां बढ़ेंगी. संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक और सामाजिक मामलों के विभाग के ‘पॉपुलेशन डिविजन’ ने ‘द वर्ल्ड पॉपुलेशन प्रोस्पेक्ट 2019 हाइलाइट्स (विश्व जनसंख्या संभावना) मुख्य बिंदु’ प्रकाशित किया है. इसमें औऱ भी कई बातें सामने आई है.

रिपोर्ट के मुताबिक जनसंख्या के साथ ही लोगों की उम्र भी बढ़ रही है. 2050 तक हर 6 में से 1 व्यक्ति 65 साल के ऊपर की उम्र को होगा. यानी दुनिया की 16 फीसदी आबादी बुजुर्ग होगी. अभी 2019 में यह 11 फीसदी है. यानी हर 9 में से 1 आदमी बुजुर्ग है.

रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि अगले 30 सालों में विश्व की जनसंख्या में दो अरब तक की वृद्धि होगी. रिपोर्ट में 2050 तक जनसंख्या के 7.7 अरब से बढ़कर 9.7 अरब तक पहुंच जाने का अनुमान है. इस अध्ययन के मुताबिक विश्व की जनसंख्या इस शताब्दी के अंत तक यानी सन् 2100 के करीब 11 अरब तक पहुंच सकती है.

2050 तक जनसंख्या में जितनी वैश्विक वृद्धि होगी उनसे में से आधी वृद्धि भारत, नाइजीरिया, पाकिस्तान, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो, इथियोपिया, तंजानिया, इंडोनेशिया, मिस्र और अमेरिका में होने की अनुमान है.

रिपोर्ट को मानें तो दुनिया की 40% आबादी उन देशों में जहां महिलाएं पूरे जीवन में चार बच्चे पैदा करती हैं. ये देश हैं – भारत, इंडोनेशिया, पाकिस्तान, मेक्सिको, फिलीपींस और मिस्र. यही नहीं, 1990 में दुनिया की फर्टिलिटी रेट 3.2 थी, जो 2019 में घटकर 2.5 हो गई. यह 2050 तक घटकर 2.2 हो जाएगी.

बता दें कि भारत अभी दुनिया में दूसरी सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है. पहले नंबर पर चीन है. भारत की जनसंख्या जहां 2011 की जनगणना के मुताबिक 1.21 अरब है वहीं चीन की आबादी 1.38 अरब है.

About Editor

Check Also

अलगाववादियों के नरम पड़े सुर, कश्मीरी पंडितों की घर वापसी के लिए हरसंभव मदद को तैयार

श्रीनगर. प्रवासी कश्मीरी पंडितों की घर वापसी के लिए सरकार और सामाजिक स्तर पर प्रयास तेज होने …