Breaking News
Home / राष्ट्रीय / भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष हुए जे पी नड्डा

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष हुए जे पी नड्डा

नई दिल्ली. बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष के तौर पर जेपी नड्डा के नाम पर मुहर लगाई गई। जेपी नड्डा को मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान स्वास्थ्य मंत्री बनाया गया था।

मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान भी जेपी नड्डा बीजेपी के अध्यक्ष पद की रेस में थे। उस वक्त, अमित शाह को बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया था। नड्डा को बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने की जानकारी पार्टी के वरिष्ठ नेता और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार की शाम को दी। हालांकि अमित शाह  अगले 6 महीने तक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहेंगे। उनके मार्गदर्शन में जेपी नड्‌डा कामकाज संभालेंगे। बता दें कि जेपी नड्डा छत्तीसगढ़ भाजपा प्रभारी रह चुके हैं। उनके नेतृत्व में रमन सिंह ने सरकार बनाई थी। जगत प्रकाश नड्डा (जेपी नड्डा) भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेताओं में से एक हैं। जेपी नड्डा का ताल्लुकात हिमाचल प्रदेश से है। उन्होंने अपनी काबिलियत के दम पर पार्टी में ऊंचा मुकाम बनाया है।

जानिए अब तक का जेपी नड्डा की चुनावी यात्रा : जगत प्रकाश नड्डा साल 1993 में पहली बार हिमाचल प्रदेश की बिलासपुर विधानसभा क्षेत्र भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर पहली बार चुनाव जीतकर हिमाचल प्रदेश की विधानसभा में पहुंचे थे। इसके बाद साल 1998 और 2007 में भी वो बिलासपुर सदर से विधायक चुने गए। साल 1998 से 2003 तक नड्डा हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री भी रहे। प्रेम प्रकाश धूमल के कार्यकाल में जेपी नड्डा ने साल 2008 से 2010 तक हिमाचल में वन और पर्यावरण, विज्ञान और तकनीकी मंत्री भी बनाए गए थे। साल 2012 में नड्डा हिमाचल से राज्यसभा के लिए चुने गए थे। साल 2014 में एनडीए की प्रचंड जीत के बाद वो पहली मोदी सरकार में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री बने। जगत प्रकाश नड्डा हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी  के प्रदेश महामंत्री  रहे। जगत प्रकाश नड्डा जम्मू कश्मीर पंजाब हरियाणा छत्तीसगढ़ तेलंगाना केरला राजस्थान महाराष्ट्र सहित अनेक राज्यों के प्रभारी/ चुनाव प्रभारी रहे उन्हें नितिन गडकरी और राजनाथ सिंह के कार्यकाल में बतौर  राष्ट्रिय महामंत्री कार्य करने का अवसर मिला।

ऐसा रहा छात्र संघ अध्यक्ष से बीजेपी अध्यक्ष बनने का सफर : जगत प्रकाश नड्डा ने 70 के दशक में जेपी के आंदोलन से प्रभावित होकर छात्र राजनीति में कदम रखा वो छात्र राजनीति में भी खूब सक्रिय थे। बिहार की राजधानी पटना में रहते हुए जेपी नड्डा ने आरएसएस की छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) में शामिल हुयेे इसके बाद वो 1977-1979 तक पटना यूनिवर्सिटी में विद्यार्थी परिषद के सेक्रेटरी बने रहे। यहीं से जेपी नड्डा के राजनीतिक सफर की शुरुआत हुई।

About Editor

Check Also

दो से ज्यादा बच्चे वाले माता-पिता को 2021 से असम में नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी

गुवाहटी. असम में सरकारी नौकरी की चाह वाले लोगों को अब सिर्फ अपने बारे में ही …