Breaking News
Home / राष्ट्रीय / JAIPUR : सहकारिता विभाग में होगी बंपर भर्ती, निर्देश जारी

JAIPUR : सहकारिता विभाग में होगी बंपर भर्ती, निर्देश जारी


जयपुर. प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए अच्छी खबर है. सहकारिता विभाग में बैंकिंग सहायक, बैंक प्रोबेशनरी अधिकारी, शाखा प्रबंधक, प्रबंधक एवं अन्य सहित 713 पदों पर सहकारी भर्ती बोर्ड के माध्यम से शीघ्र ही भर्ती प्रक्रिया संपन्न की जायेगी. इसके लिये भर्ती बोर्ड को आवश्यक निर्देश जारी कर दिये हैं. वरीयता के आधार पर इसका कार्य को किया जायेगा ताकि रिक्त पदों से जूझ रही संस्थाओं में अधिकारी एवं कर्मचारियों की नियुक्ति कर संस्थाओं को सुचारू रूप गतिमान किया जा सके.

सहकारिता मंत्री ने ली उच्चस्तरीय बैठक: 
सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने आज किसान कर्ज माफी योजना, खरीफ के लिए ब्याज मुक्त फसली ऋण देने और रिक्त पदों को भरने को लेकर अपेक्स बैंक में एक उच्चस्तरीय बैठक ली. इस दौरान उन्होंने कहा कि बैंक से संबंधित रिक्त पदों की भर्ती आईबीपीएस के माध्यम से करवाई जायेगी ताकि पारदर्शिता के साथ पात्र योग्यताधारियों का चयन हो सके. रिक्त पदों पर होने वाली सभी भर्तियां बिना साक्षात्कार के लिखित परीक्षा में प्राप्त वरीयता के आधार पर की जायेंगी.

डेशबोर्ड से की जायेगी दवा बिक्री की मॉनिटरिंग : सहकारिता मंत्री ने कहा कि सहकारी संस्थाओं के प्रति आमजन का विश्वास बना रहे यह हमारी पहली प्राथमिकता है. इसी को ध्यान में रखते हुये सभी संस्थायें अपने कार्यों को अंजाम दें. उन्होंने कहा कि सहकारी दवाई की दुकानों के माध्यम से पेंशनरों एवं अन्य मरीजों को प्राप्त होने वाली दवाओं में पारदर्शिता स्थापित की जायेगी. इसके लिये ऑनलाइन सॉफ्टवेयर एवं डेशबोर्ड के माध्यम से दवाओं की बिक्री की जायेगी. जिसमें दवा के नाम के साथ-साथ उसके सॉल्ट एवं जेनेरिक नाम को भी प्रदर्शित किया जायेगा. उन्होंने जोर देकर कहा कि कॉनफैड के माध्यम से प्रोपेगण्डा कम्पनियों के प्रॉडक्ट की बिक्री पर लगाम लगाई जायेगी तथा जो कर्मचारी एवं अधिकारी ऎसे किसी कृत्य में लिप्त पाये जायेंगे उनके विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जायेगी.

उन्होंने कहा कि डेशबोर्ड के माध्यम से सभी सहकारी उपभोक्ता दवा दुकानों की ऑनलाइन मॉनिटरिंग की जायेगी और जो भी दवा भण्डार सस्ती दवा खरीद करेगा उसी दर पर वह दवा उस भण्डार से अन्य दवा दुकानों को उपलब्ध कराई जायेगी. उन्होंने इस संबंध में प्रबंध निदेशक, उपभोक्ता संघ को 7 दिवस में प्रगति से अवगत कराने के निर्देश प्रदान किये.

ई-मित्र केन्द्रों को बीसी बनाने के निर्देश: आंजना ने कहा कि किसानों को फसली ऋण वितरण के लिये ऑनलाइन पंजीयन की सुविधा को बढ़ाने के लिये सभी ई-मित्र केन्द्रों को बिजनेस करस्पोंडेंट बनाया जाये ताकि किसानों को फसली ऋण वितरण में तेजी लाई जा सके. इस संबंध में उन्होंने अपेक्स बैंक के प्रबंध निदेशक को निर्देश दिये कि सभी जिला केन्द्रीय सहकारी बैंकों को निर्देश जारी करें. उन्होंने कहा कि किसानों को फसली ऋण वितरण में किसी प्रकार की परेशानी नहीं आने दी जायेगी. उन्होंने कहा कि इस बार 10 लाख नये किसानों को फसली ऋण मुहैया कराया जायेगा. खरीफ सीजन में 10 हजार करोड़ रुपये का ऋण वितरण का लक्ष्य रखा गया है.

भूमि विकास बैंकों के ऋण वितरण के लिये बनेगा पोर्टल : सहकारिता मंत्री ने कहा कि प्राथमिक भूमि विकास बैंकों के माध्यम से वितरित किये जाने वाले ऋणों की बेहतर मॉनिटरिंग करने के लिये लोन पोर्टल बनाया जायेगा. उन्होंने केन्द्रीय सहकारी बैंंकों द्वारा गाईडलाइन से परे जाकर किये गये ऋण वितरण पर चिन्ता जाहिर करते हुये कहा कि ऋण वितरण की गाईडलाइन से अलग ऋण वितरण करने वाले अधिकारी एवं कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कदम उठाये जायेंगे.

एक निरीक्षक को निलम्बित तथा एक सहायक रजिस्ट्रार को एपीओ करने के निर्देश : उन्होंने कहा कि जनसुनवाई में आये प्रकरणों की नियमित रूप से मॉनिटरिंग की जाये ताकि समय पर पीड़ित को राहत दी जा सके. सहकारिता मंत्री ने फागी क्रय विक्रय सहकारी समिति के मैनेजर श्री राज कुमार शर्मा को मूंग खरीद में लापरवाही बरतने के लिये तत्काल निलम्बित करने के निर्देश दिये. उन्होंने जोधपुर उपभोक्ता भण्डार के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामसुख चौधरी को भण्डार के लाभ में अत्यधिक कमी होने पर एपीओ करते हुये विस्तृत जांच करने के निर्देश दिये. बैठक में प्रमुख सचिव अभय कुमार ने सहकारी दवा दुकानों के लिये ऑनलाइन सॉफ्टवेयर एवं डेशबोर्ड, ई-मित्र केन्द्रों को किसानों के फसली ऋण वितरण पंजीयन के लिये बिजनेस करस्पोंडेंट बनाने सहित सहकारी संस्थाओं में पारदर्शिता स्थापित करने के विभिन्न आयामों को विस्तृत रूप से प्रस्तुत किया. रजिस्ट्रार डॉ नीरज के. पवन ने एजेण्डावार बिन्दुओं पर चर्चा करते हुये भर्ती प्रक्रिया को शीघ्र सम्पन्न कराने एवं दवाओं की प्रोपेगण्डा कम्पनियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की रूपरेखा को बताया.

About Editor

Check Also

उत्तर भारतीयों पर बयान देकर केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार विपक्ष के निशाने पर आए, यह कहा था

बरेली. उत्तर भारतीय युवाओं में कौशल की कमी की बात कहकर केंद्रीय श्रम एवं रोजगार राज्य …