Breaking News
Home / छत्तीसगढ़ / प्रताड़ना से तंग आकर महिला ने की आत्महत्या

प्रताड़ना से तंग आकर महिला ने की आत्महत्या

बिलासपुर. रतनपुर थाना क्षेत्र में  बीती रात एक महिला ने अपने ससुराल में साड़ी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है। एक दिन पहले ही महिला के मायके के परिजनों ने थाने में शिकायत की थी कि ससुराल वाले परेशान कर रहे हैं। लेकिन किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं हुई। लड़की के पिता ने प्रताड़ना का आरोप लगाया है। रतनपुर पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के हवाले कर दिया है।
          लोगों से मिली जानकारी के अनुसार महिला का नाम अंजना गुप्ता पिता राजेन्द्र गुप्ता है। 34 साल की अंजना की शादी दस सालल पहले हुई थी। उत्तरप्रदेश के चित्रकूट बांदा निवासी अंजना के पिता राजेन्द्र ने रतनपुर बड़ी बाजार निवासी सुधीर गुप्ता पिता हजारीलाल गुप्ता से धूम धाम  से शादी की थी। कुछ दिनों बाद अंजना के ससुराल वाले ताना देने लगे। पति उसके साथ मारपीट करने लगा। कई बार अंजना को भूखे पेट में बंद रहना पड़ा।  मामले की जानकारी जब अंजना के माता पिता को हुई तो उन्होने ससुराल वाालों को कई बार समझाने की कोशिश की। इसके बाद अंजना के ससुराल वालों ने मोबाइल से सिम कार्ड भी निकाल लिया । प्रताड़ना से परेशान अंजना किसी तरह से अत्याचार की जानकारी हमेशा की तरह अपने माता पिता को दी। इसके बाद पिता ने अपनी बेटी को दूसरा मोबाइल खरीद कर दिया । लेकिन उसके ससुराल वाले उसे भी छीन लिया। बातचीत पर पूरी तरह से पहरा लगा दिया।
                   प्रताड़ना से अंजना काफी परेशान हो चुकी थी। भूख के कारण उसे अपने बच्चों को दूध पिलाने में भी परेशानी होने लगी। मामले में उसने और उसके पिता रतनपुर थाने में लगातार शिकायत की। बावजूद इसके पुलिस ने कोई सार्थक प्रयास नहीं किया। एक बार ससुराल वाले अंजना को ताले में  बंद कर चले गए तो उसने पड़ोसियों को प्रताड़ना की जानकारी दी। इसके बाद अंजना को किसी तरह रतनपुर पुलिस की सहयोग से बाहर निकाला गया।
                       16 जुलाई को एक बार फिर ससुराल वालों ने अंजना को जमकर परेशान किया। सबसे पहले उसने रतनपुर थाना पहुंचकर ससुराल वालों के खिलाफ लिखित शिकायत की। एक बार फिर शिकायत के बाद पुलिस ने ससुराल वालों को बुलाया । लेकिन पुलिस के बुलाने पर केवल उसका पति ही थाना गया। लेकिन पुलिस ने पूछताछ के बाद पति को करीब 6 बजे छोड़ दिया।
                     इसके बाद रतनपुर पुलिस ने दोपहर 1 बजे अंजना को खाना खाने के लिए घर भेज दिया। जबकि वह अपने घर  जाना नहीं चाहती थी । लेकिन पुलिस का कहना था कि खाना खाने के बाद थाना आ जाना। लेकिन अंजना घर नहीं जाकर सीधे महिला थाना पहुंच गयी।
                     रतनपुर पुलिस के अनुसार दोपहर 1 बजे से रात 11 बजे के बीच में महिला के साथ ससुराल वालों ने मारपीट की होगी। अंजना के हाथ की कलाई, कोहनी, आंख के नीचे और माथे पर चोट का निशान मिले हैं । घटनास्थल पर एक पेन मिली है उम्मीद है कि अंजना ने सुसाइड नोट लिखकर कहीं पर रखी है। पुलिस काफी खोजबीन की लेकिन सुसाइड नोट नहीं मिला है । तफ्तीश के दौरान मृतक महिला के तकिए के नीचे थाने में लिखित शिकायत की कापी और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रतनपुर की एक पर्ची मिली है।
                   इसके पहले सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंचकर अंजना के शव को स्थानीय लोगों के सहयोग से नीचे उतरवाया । इस दौरान महिला संवेदना केंद्र की टीम मौजूद थी । महिला के ससुराल वालों के साथ महिला के पिता और स्थानियी लोगों के सामने पुलिस ने पंचनामा बयान लेकर शव को पोस्टमार्टम के लिए मरचुरी भेज दिया। इसके बाद शव को परिजनों के हवाले किया गया। मामले में मर्ग कायम कर जांच की जा रही है।
                                 चित्रकूट बांदा जिला से आए अंजना के पिता राजेंद्र ने बताया कि ससुराल वाले उनकी बेटी से लगातार मारपीट करते थे । अंजना ने इसकी जानकारी अपनी मां को कई बार दी है। मामले की शिकायत उसने रतनपुर पुलिस के पास भी किया था । मगर रतनपुर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। यदि समय रहते पुलिस ने उचित कदम उठाया होता तो आज उनकी बेटी जिंदा होती।

About Editor

Check Also

बिलासपुर का पारा ने तोड़ा रिकॉर्ड, जानें क्या रहा नवतपा के पहले दिन का तापमान

बिलासपुर. स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए दिन में बाहर नहीं निकलने की सलाह …