Breaking News
Home / छत्तीसगढ़ / जब बाजे-गाजे के साथ घोड़ी में सवार दूल्हा पहुंचा मतदान केन्द्र

जब बाजे-गाजे के साथ घोड़ी में सवार दूल्हा पहुंचा मतदान केन्द्र


धमतरी. लोकतंत्र के पर्व में हर एक वोट महत्वपूर्ण रहता है. अब इसकी अहमियत लोगों को समझ में भी आने लगी है. आज छत्तीसगढ़ के भीतर इसके कई नजारे देखने को मिले. जहां बुजुर्गों से लेकर बीमार और शादी की रस्मों रिवाज के बीच से युवा मतदान करने पहुंचे. ऐसा ही नजारा धमतरी जिले में भी देखने को मिला. धमतरी जिले का एक बड़ा हिस्सा महासमुंद लोकसभा सीट और कुछ हिस्सा कांकेर लोकसभा सीट के अंतर्गत आता है.

दोनों ही लोकसभा सीट के लिए जिले में मतदाताओं के भीतर खासा उत्साह रहा. यहां शादी के बंधन में बंधने जा रहे दुल्हा-दुल्हन मतदान केन्द्र पहुंचकर मतदान किया. सदर उत्तर वार्ड मतदान केन्द्र में एक नवविवाहित जोड़ा बाजे-गाजे के साथ मतदान करने पहुंचा. दुल्हा शंकर यादव की बुधवार को रायपुर में शादी हुई. शादी के बाद दुल्हन सहित घर लौट रही बारात सीधे घर न जाकर मतदान केन्द्र पहुंच गई जहां दुल्हे ने मतदान किया. वहीं उसकी बहन की भी शादी आज शाम को ही होने वाली है उसने भी मतदान केन्द्र पहुंचकर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करते हुए वोट डाला.

वहीं सिवनीखुर्द की रहने वाली स्वाति प्रजापति की गुरुवार को शादी है. घर में शादी की रस्में चल रही थी लेकिन रश्मि ने लोकतंत्र के इस महापर्व में अपने वोटों की आहूति देना ज्यादा जरुरी समझा और वह रस्मों को बीच में ही छोड़कर वोट देने मतदान केन्द्र पहुंच गई. जहां उसने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. स्वाति का कहना है कि मतदान करना देश के हर नागरिक का कर्तव्य है, और इस कर्तव्य को पूरा करने के लिये ही वह सभी रश्मों को बीच में छोड़कर वोट देने आयी है.

इसी तरह ग्राम दरगहन का भूपेंद्र साहू और ग्राम सेमरा डाही का कलेन्द्र रजक भी बारात निकलने से पहले अपने मताधिकार का प्रयोग करने पहुंचे थे. दूल्हा और दुल्हन के जोड़े में मतदान केंद्र पहुंचे इन युवाओं ने समाज के बाकी लोगों को मतदान के लिए प्रेरित किया.

About Editor

Check Also

सुराजी गांव योजना को मूर्तरूप देने कलेक्टर ने किया गांवों का दौरा, लगाई चैपाल

धमतरी. प्रदेश शासन की सर्वाधिक महत्वपूर्ण सुराजी गांव योजनांतर्गत नरवा, गरूवा, घुरवा और बाड़ी के …