Breaking News
Home / राष्ट्रीय / आईएसआई को जानकारी देने के आरोप में सेना का सिपाही गिरफ्तार

आईएसआई को जानकारी देने के आरोप में सेना का सिपाही गिरफ्तार

नई दिल्ली। पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसी आईएसआई भारतीय सेना के जवान को हनीट्रैप से गोपनीय जानकारी ले रहा था। सेना के जवान को युवती पर शक न हो इसके लिए जामा मस्जिद इलाके से खरीदी गई सिम को कराची से इस्तेमाल किया जा रहा था।

राजस्थान एसटीएफ ने इस मामले में सेना के सिपाही समेत जामा मस्जिद इलाके में सिम बेचने वाले दुकानदार को गिरफ्तार किया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आरोपितों के नाम सोमवीर व शाहनवाज खान है। सोमवीर सोनीपत के भैमी महाराजपुर गांव का रहने वाला है और सेना में सिपाही है। उसकी तैनाती बीकानेर में है।

शाहनवाज खान मटियामहल का रहने वाला है। उसकी जामा मस्जिद इलाके में मोबाइल फोन व सिम की दुकान है। कुछ महीने पहले जम्मू-कश्मीर के रहने वाले एक संदिग्ध फर्जी दस्तावेज पर उससे सिम खरीदा था। शाहनवाज को उसने दस्तावेज फर्जी होने की बात बता दी थी फिर भी उसने अपनी गारंटी पर सिम दे दिया था। उस सिम को संदिग्ध युवक ने जम्मू-कश्मीर ले जाकर आईएसआई को सौंप दिया।

आईएसआई ने कराची में सिम ले जाकर उसे एक मोबाइल में एक्टिवेट किया और उस नंबर से एक युवती ने सोमवीर को वाट्सएप कॉल करना शुरू कर दिया। युवती खुद को दिल्ली की बताती रही। हनीट्रैप में फंसाने के बाद युवती सोमवीर से भारतीय सेना के बारे में गोपनीय जानकारी व दस्तावेज मांगने लगी। इसके बदले वह सोमवीर को पैसे भी भेजती थी।

सोमवीर वाट्सएप पर सेना के बारे में कई गोपनीय दस्तावेज भेजे। राजस्थान के एसटीएफ को यह जानकारी मिलने पर पहले सोमवीर को बीकानेर से दबोच लिया गया। एसटीएफ ने जामा मस्जिद पहुंचकर सिम बेचने वाले शाहनवाज खान को भी दबोच लिया। दोनों से पुलिस पूछताछ कर युवती के बारे में पता लगा रही है। साथ ही जम्मू कश्मीर के उस संदिग्ध व्यक्ति के बारे में भी पता लगा रही है जिसने सिम खरीदा था।

About Editor

Check Also

Pulwama Attack: शहीद की बेटी बोली- मुझे डॉक्टर बनना है, तो प्रियंका ने दिया ऐसा जवाब

उन्नाव। पुलवामा आतंकी हमले में शहीद 40 जवानों में से 12 उत्तरप्रदेश के थे। इनमें …