Breaking News
Home / छत्तीसगढ़ / ऐसा आदिवासी बहुल विकासखंड जहां चोरी हो गया आवास

ऐसा आदिवासी बहुल विकासखंड जहां चोरी हो गया आवास

पेंड्रा| जी हां अजूबा नहीं सच बात है बिलासपुर जिले का आदिवासी बहुल विकासखंड पेंड्रा में साल भर पहले शौचालय चोरी हुआ था, और अब प्रधानमंत्री आवास योजना का आवास चोरी हो गया है. यह मामला प्रकाश में तब आया जब 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला को मालूम चला उसके नाम से आवास बना है, जबकि अभी भी वह अपनी जर्जर झोपड़ी में रह रही है…

बिलासपुर जिले का आदिवासी बहुल विकासखंड पेंड्रा हितग्राहीमूलक कामों के लिए पंचायत स्तर के अधिकारियों के लिए चारागाह बन गया है. जहां कभी शौचालय तो कभी आवास चोरी हो रहे हैं. समस्या बस एक ही है कि इसके शिकार गरीब ही हो रहे हैं.  मकान चोरी करने का कारनामा पेंड्रा जनपद में हुआ है. थाने के सामने शिकायत लेकर खड़ी अड़भाड़ गांव की बुजुर्ग महिला थाने में अपने मकान चोरी हो जाने की रपट लिखाने आई. दरअसल 60 वर्षीय फुलझरिया बाई का मकान वर्ष 2018-19 में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत स्वीकृत हुआ था, पर काफी जद्दोजहद के बाद भी उसकी किसी भी प्रकार की सूचना फुलझरिया बाई को नहीं मिल पा रही थी.

बुजुर्ग को पता ही नहीं और हो गया दो किश्तों का भुगतान

चुनाव खत्म होने के बाद अपने सरपंच को लेकर जब फूलझरिया बाई जनपद पहुंची तो पता चला कि उसका मकान डोर लेवल तक पूरा हो चुका है, और उसे दो किस्त का भुगतान भी हो चुका है, पर मौके पर ना तो आवास था और ना ही किसी भी प्रकार का कोई मकान, फुलझरिया बाई के पास आज भी उसका टूटा हुआ जर्जर मकान है, जिस पर उसके सर छुपाने तक की जगह नहीं है.

थाने पहुंचकर की मकान ढूंढने की दरख्वास्त

वहीं कागजों की बात करें तो फुलझरिया बाई को प्लिंथ लेवल कंप्लीट होने पर प्रथम किस्त की राशि चेक नंबर 2108201819851 से  30 अगस्त 2018 को 35000 एवं डोर लेवल कंपलीट होने पर दूसरी किस्त चेक नंबर 1009201811701  से  17  सितंबर 2019 को ₹45000 कुल 80 हजार रुपये का भुगतान कर दिया गया. यह भुगतान सभी तकनीकी बिन्दुओ को पूर्ण करने के बाद जैसे निर्माण स्थल की फोटोग्राफी और जियो टैगिंग कर की गई  है. बस इसी मामले की शिकायत लेकर फुलझरिया बाई सरपंच लल्ला सोनवानी के साथ थाने पहुंची है और पुलिस से अपने डोर लेबल कंपलीट हो चुके मकान को ढूंढने की दरख्वास्त कर रही है.

चोरी के मामले में नामजद शिकायत दर्ज

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत स्वीकृत हुए पक्के मकान की दो किस्त निकल जाने और स्थल पर किसी भी प्रकार के निर्माण कार्य नहीं होने से पीड़ित सहित सरपंच भी हतप्रभ है, फिलहाल पीड़ित ने पुलिस को आवास चोरी मामले पर प्रकाश महिलांगे प्रधानमंत्री आवास योजना समन्वयक विकासखंड पेंड्रा, राजेश गुप्ता कंप्यूटर ऑपरेटर और आवास मित्र द्रोपदी केवट के खिलाफ शिकायत दर्ज कराया है. थानेदार के नहीं होने की वजह से विवेचक ने फिलहाल मामले पर कार्यवाही शुरू नहीं की है, पर शीघ्र ही नियमानुसार कार्यवाही की बात जरूर कही जा रही है.

About Editor

Check Also

अमित जोगी का स्वास्थ्य सामान्य, एमआरआइ की रिपोर्ट पर सस्पेंस

रायपुर. बाला जी अस्पताल में भर्ती पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बेटे व पूर्व विधायक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *